29/09/2013

काली मिर्च से घरेलू उपचार

Home remedies with black pepper
काली मिर्च से घरेलू उपचार
काली मिर्च Black pepper (Piper nigrum, family Piperaceae) अपने औषधीय गुण व सुगंध के कारण भारतीय रसोई में एक प्रमुख स्थान रखता है. काली मिर्च में पाया जाने वाला एक तत्व, पिपेरिने, मस्तिष्क के कार्य को बढ़ावा देने में मदद करता है, शरीर में मौजूद पोषक तत्वों की चयापचय को सुधारता है, पाचन में सुधार और पेट के अल्सर और पेट के कैंसर का निवारण करता है.
काली मिर्च कई आम बीमारियों (पेट दर्द, दंत क्षय, जिगर की समस्याओं, फेफड़ों के रोग, अपच, कब्ज, दस्त और मूत्र विकार आदि) के लिये व्यापक रूप से घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. 
इस पोस्ट में जानिए काली मिर्च द्वारा आम बीमारियों से निपटने के लिए कुछ उपयोगी प्राकृतिक उपचार -
  • एक कप गुनगुने पानी में ¼ छोटा चम्मच काली मिर्च, 2 चम्मच नींबू का रस और शहद मिलाकर पीने से वजन कम करने में मदद मिलेगी.
  • 5-6 पीसी हुई काली मिर्च, शहद के साथ चाटने से सूखी खाँसी में राहत देती है. यह नुस्खा भूख उत्तेजक के रूप में भी प्रभावी है.
  • दांत दर्द के लिए, लौंग के तेल में काली मिर्च पाउडर प्रभावित हिस्से पर मिलाकर लगाना फायदेमंद है.
  • चाय तैयार करते समय 2-4 काली मिर्च पाउडर, अदरक, एक लौंग और कुछ तुलसी पत्ते डाले. सर्दी व खांसी के लिए यह नुस्खा प्रभावी है.
  • पान में 8-10 काली मिर्च डालकर चबाने से वज़न बढ़ता है.
  • अस्थमा के लिए, 7 -8 काली मिर्च, 2 लौंग की कलियों व लगभग 10 तुलसी के पत्ते 15 मिनट के लिए पानी में उबालो. इसे फ़िल्टर करें और दो ​​चम्मच शहद के साथ सेवन करें.
  • कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर नियंत्रण रखने के लिए, एक गिलास छाछ में ¼ छोटा चम्मच काली मिर्च पाउडर मिलाकर पीने से फायदा मिलता है.
  • सभी प्रकार की खांसी के इलाज के लिए, पीसी हुई काली मिर्च चीनी व घी के साथ लेने से आराम मिलता है.

07/09/2013

Shiatsu Massage Therapy

Shiatsu का जापानी में अर्थ है 'फिंगर प्रेशर’. इस चिकित्सा में उंगली और हथेली का दबाव, खिंचाव और अन्य मालिश की तकनीक शामिल है. Shiatsu निवारक और उपचारात्मक प्रभाव दोनों के लिए माना जाता है. यह तकनीक मांसपेशियों की जकड़न कम कर आराम देती है, पाचन तंत्र में सुधार, तनाव और चिंता, आदि समस्याओं से निपटने में मदद करती हैं. 


अपनी आँखें बंद करो, शरीर और दिमाग को आराम देने के लिए धीरे धीरे गहरी सांस लो. (चार्ट में देखो) शरीर में स्थित दबाव बिंदु संवेदनशील होते हैं. धीरे - धीरे अपनी उंगलियों से इन बिंदुओं की मालिश करो.